उत्‍तराखण्‍ड पौड़ी गढ़वाल

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देशभर के अनुसूचित जनजाति के लाभार्थियों से साथ किया संवाद, कोटद्वार में हुआ संवाद कार्यक्रम

प्रधानमंत्री जनजाति आदिवासी न्याय महा अभियान के तहत प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने देशभर के अनुसूचित जनजाति के लाभार्थियों से संवाद किया। जनपद में इस संवाद को सुनने के लिए कोटद्वार स्थित ए०वी०एन० पब्लिक में स्कूल में आयोजित कार्यक्रम में विधानसभा अध्यक्षा ऋतु खंडूड़ी, सांसद पौड़ी तीरथ सिंह रावत, जिलाधिकारी सहित जनजाति समुदाय के लाभार्थियों ने में प्रतिभाग किया।

कार्यक्रम में उपस्थित सांसद गढ़वाल तीरथ सिंह रावत ने भारत के यशस्वी प्रधानमंत्री द्वारा अनुसूचित जनजाति समुदाय के जनमानस के लिए शुरू की गई जनमन योजना की सराहना करते हुए कहा कि केंद्र व राज्य सरकार सबका साथ सबका विकास के मंत्र पर अडिग है। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार द्वारा जनजाति समुदाय के लिए विभिन्न योजनाएं चलाई जा रही है जिसका लाभ सभी जरूरतमंदों तक पहुंचाना उनकी प्राथमिकता में हैं।

संवाद समाप्त होने के उपरांत विधानसभा अध्यक्ष ने कार्यक्रम में उपस्थित बोक्सा समुदाय के जनमानस को आश्वासन दिया कि वे आगामी 19 जनवरी को सरकारी अमले के साथ बोक्सा जनजाति बाहुल्य क्षेत्र में जाकर लोगो की समस्याओं की सुनवाई कर निस्तारण करेंगी। उनके द्वारा बोक्सा जनजाति समुदाय के 6 अटल आयुष्मान के लाभार्थियों को आयुष्मान कार्ड वितरण, 8 उज्ज्वला योजना के लाभार्थियों गैस कनेक्शन वितरण, 5 लाभार्थियों को निशुल्क बीज वितरण, 105 लाभार्थियों को सब्जी बीज की मिनी किट, 5 लाभार्थियों को महालक्ष्मी किट वितरण किया गया जबकि 3 नवजात शिशुओं को अन्नप्राशन कराया गया।

जिलाधिकारी डॉ आशीष चौहान ने कहा कि अनुसूचित जनजाति के लोगो की समस्याओं के निस्तारण हेतु जिला प्रशासन द्वारा गत 9 जनवरी से एसटी बाहुल्य क्षेत्र में कैम्प का आयोजन कर शिकायतों/समस्याओं का निराकरण किया जा रहा है। कार्यक्रम में विभिन्न विभागों द्वारा जनजाति समुदाय के लोगो को स्टॉल में माध्यम से योजनाओं की जानकारी व लाभान्वित किया गया।

एडीएम ईला गिरी, एसडीएम सोहन सिंह सैनी, सीएमओ डॉ प्रवीण कुमार, जिला समाज कल्याण अधिकारी विनोद उनियाल सहित बीजेपी जिलाध्यक्ष धीरेंद्र रावत, अनुसूचित जनजाति के प्रदेश अध्यक्ष नरेंद्र सिंह, बोक्सा जनजाति समुदाय के 5 गांवों से आये लाभार्थी उपस्थित थे।

Uttrakhand pm sanwad karyakram

LEAVE A RESPONSE

Your email address will not be published. Required fields are marked *