uttarkashi
उत्तरकाशी उत्‍तराखण्‍ड न्यूज़

उत्तरकाशी पुलिस ने लैपर्ड की खाल की तस्करी का भंडाफोड़ किया, एक तस्कर को किया गिरफ्तार

संवाददाता सुरेंद्र पाल सिंह

उत्तरकाशी जिले में पुलिस ने लैपर्ड की खाल की तस्करी का एक बड़ा मामला पकड़ा है। पुलिस ने एक तस्कर को गिरफ्तार करके उसके कब्जे से दो लैपर्ड की खालें बरामद की हैं।

 

एसओजी उत्तरकाशी द्वारा गहन सुरागरसी पतारसी करते हुये एक सटीक जानकारी जुटायी गयी। जिस पर पुलिस उपाधीक्षक उत्तरकाशी/ऑपरेशन प्रशान्त कुमार द्वारा एसओजी प्रभारी प्रकाश राणा, थानाध्यक्ष पुरोला मोहन कठैत एवं वाइल्ड लाइफ क्राइम कंट्रोल व्यूरो दिल्ली (WCCB) की एक संयुक्त टीम गठित की गयी। टीम द्वारा कल देर रात्रि को जाल बुनते हुये थाना पुरोला क्षेत्र से देहरादून- नौगांव राष्ट्रीय राजमार्ग पर जरड़ाखड्ड के पास से वरुण उर्फ लक्की नामक तस्कर को लैपर्ड की खाल की तस्करी करते हुये गिरफ्तार किया गया, जिसके कब्जे से 02 खालें बरामद हुयी हैं। पुलिस द्वारा वन्य जीव की खाल की तस्दीक हेतु वन विभाग की टीम को मौके पर बुलाया गया।

 

गिरफ्तारी व बरामदगी के आधार पर अभियुक्त वरुण के विरुद्ध थाना पुरोला पर वन्य जीव संरक्षण अधिनियम की धारा 9/51 के तहत अभियोग पंजीकृत किया गया,मामले में अग्रिम विधिक कार्यवाही जारी है। अभियुक्त के आपराधिक इतिहास की जानकारी जुटाई जा रही है। अभियुक्त को आज मा0 न्यायालय के समक्ष प्रस्तुत कर न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है।
अभियुक्त उक्त खालों को रिखनाड़ लाखामण्डल के जंगलों से लाकर तराई के एरिया में उच्च दामों पर बेचने के लिये ले जा रहा था, जिसको एसओजी व पुलिस की टीम ने देर रात्रि को दबोच लिया।

uttarkashi

पुलिस कार्यालय उत्तरकाशी में आयोजित पत्रकार वार्ता में सी0ओ0 प्रशान्त कुमार द्वारा बताया गया कि हमारी एसओजी की टीम पिछले कई दिनों से इसकी निगरानी कर रही थी, जिसमें कल रात को टीम को तस्कर वरुण (लक्की ) को पकडने में कामयाबी हाथ लगी है, लैपर्ड/गुलदार वन्य जीव की दुर्लब होने वाली प्रजातियों मे एक है, वन्य जीव संरक्षण अधिनियम की अनुसूची 1 मे इसे उच्चतम स्तर की सुरक्षा प्राप्त वन्य जीव प्रजातियों में रखा गया है।

यह भी पढें:uttarkashi news उत्तरकाशी में ग्राफिक एरा यूनिवर्सिटी के सहयोग से आयोजित हुआ स्टार्टअप बूट कैंप

गिरफ्तार अभियुक्त वरुण उर्फ लक्की पुत्र बलराम निवासी नाड़ा लाखामण्डल देहरादून, उम्र- 29 वर्ष बताया जा रहा है।

कार्यकर्ता दबिश पुलिस टीम में उ0नि0 प्रकाश राणा प्रभारी एसओजी, उ0नि0 राजेश कुमार चौकी प्रभारी नौगाँव,
हे0कानि0 अब्बल सिंह थाना पुरोला,
हे0कानि0 प्रवीन परमार थाना पुरोला,
हे0कानि0 सूरज सिंह एसओजी,
कानि0 दीपक नेगी एसओजी,
WCCB की टीम एवं वन विभाग की टीम
वनक्षेत्राधिकारी शेखर सिंह राणा
वन दरोगा जयवीर राणा
वन दरोगा जयदेव इत्यादि सभी लोगों द्वारा इस अभियान को अंजाम दिया गया।

 

इस मामले में पुलिस टीम को SP उत्तरकाशी द्वारा 5 हजार रुपये का पुरस्कार भी दिया गया है। पुलिस महानिदेशक उत्तराखण्ड, अभिनव कुमार ने राज्य में मानव सम्बन्धी अपराधों के साथ-साथ वन्य जीव व जीवों के अंगों की तस्करी को गंभीरता से लेने और उसके नियंत्रण व प्रभावी रोकथाम के निर्देश दिए हैं। उन्होंने उत्तरकाशी के पुलिस कप्तान अर्पण यदुवंशी की इस कार्रवाई की सराहना की है।

पुलिस ने इस मामले में वाइल्ड लाइफ क्राइम कंट्रोल व्यूरो (WCCB) दिल्ली की सहायता भी ली है। वन विभाग की टीम ने भी मौके पर पहुंचकर बरामद खालों की तस्दीक की है।

इस तरह, उत्तरकाशी पुलिस ने वन्य जीवों के संरक्षण के लिए एक महत्वपूर्ण कदम उठाया है। इससे अन्य तस्करों को भी एक सबक मिलेगा।

LEAVE A RESPONSE

Your email address will not be published. Required fields are marked *