उत्‍तराखण्‍ड न्यूज़ पौड़ी गढ़वाल

वृक्ष संरक्षण दिवस वृक्षारोपण कर बड़े धूमधाम से मनाया

वृक्ष हमारे जीवन के आधार , प्रीति देवी नौडियाल

राठ क्षेत्र की प्रतिष्ठित संस्था समळौ॑ण द्वारा विकासखंड थलीसैंण के ग्राम सभा नौगांव पज्याणा के जय मां काली स्मृति समलौण वन में संस्था द्वारा संकल्पित हर वर्ष 30 जुलाई को वृक्ष संरक्षण दिवस घोषित हो के अवसर पर समस्त ग्राम वासियों द्वारा 105बा॑ज के समलौण पौधों का रोपण कर उनके संरक्षण का संकल्प लिया गया।

कार्यक्रम का शुभारंभ समलौण आंदोलन के राज्य संयोजक श्री मातबर सिंह बर्त्वाल जी द्वारा जै माता दुर्गा का भजन गाकर सबको मंत्रमुग्ध कर पर्यावरण के प्रति जागरूक किया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि सम्मानित क्षेत्र पंचायत सदस्य श्रीमती प्रीति देवी मिश्रा नौडियाल जी ने कहा वृक्षारोपण मानव जीवन के लिए एक पुण्य का कार्य है क्योंकि ये समस्त जीव धारियों के लिए प्रत्यक्ष एवं अप्रत्यक्ष रूप से लाभकारी होते हैं, वृक्ष तो हर वर्ष असंख्य लगते हैं लेकिन उनका संरक्षण नहीं होने के कारण पर्यावरण असंतुलित रहता है,

जिससे ग्लोबल वार्मिंग जलवायु परिवर्तन आदि अनेक समस्याओं को हम महसूस करते हैं इन सब से बचने के लिए हमें अधिक से अधिक पौधारोपण करना चाहिए, समलौण संस्था संपूर्ण राज्य में हर संस्कारों के अवसर पर एक आंदोलन के रूप में कार्य कर रही है जो कि प्रशंसनीय है संस्था का लक्ष्य 30 जुलाई को वृक्ष संरक्षण दिवस का होना बहुत जरूरी है

तभी वृक्ष बच पाएंगे। कार्यक्रम में संस्था के संस्थापक श्री वीरेंद्र दत्त गोदियाल ने संस्था के लक्ष्य एवं उद्देश्यों के बारे में विस्तार से बताया उन्होंने कहा क्षेत्र की आराध्य देवी मां बू॑खाल का॑लिका में पुश बलि प्रथा को बंद करने के लिए प्रख्यात पशु प्रेमी सांसद मेनका गांधी30 जुलाई 2010 को राजकीय इंटर कॉलेज चौ॑रीखाल में क्षेत्र के संभ्रांत नागरिकों के मध्य एक सेमिनार में पहुंची, मैंने भी उक्त अवसर पर उन निरीह पशुओं की आत्मा की शांति के लिए स्मृति स्वरूप विद्यालय परिसर में तत्कालीन जिलाधिकारी महोदय पौड़ी श्री दिलीप जावलकर जी जी के परामर्श पर माननीय मेनका गांधी जी के हाथों काफल के 5 समलौण पौधों का रोपण कर उन निरीह पशुओं को याद किया, पौधों के संरक्षण की जिम्मेदारी विद्यालय के प्रधानाचार्य श्री शौभानन्द बौ॑ठियाल जी को दी गई, उनके द्वारा पौधे को फल वितरित किया गया और वह वृक्ष बन गया, मेरे मन में एक ख्याल आया कि जिस प्रकार से हम अपने और अपने बच्चों का जन्म दिवस बड़े धूमधाम से मनाते हैं

क्यों ना वृक्ष का भी जन्म दिवस मनाया जाए, इसी परिपेक्ष में 30 जुलाई 2020 को उस वृक्ष की दसवीं वर्षगांठ पर वृक्ष जन्मोत्सव बड़े धूमधाम से मनाया गया। उसी दिन यह संकल्प लिया गया हर वर्ष 30 जुलाई को वृक्ष संरक्षण दिवस मनाया जाएगा ताकि सरकार से यह मांग भी रहेगी कि वृक्ष तो लगते हैं लेकिन उनका संरक्षण का होना बहुत जरूरी है। कार्यक्रम का संचालन कर रहे संस्था के सचिव श्री नरेंद्र सिंह नेगी के ने कहा आज जिन पौधों का रोपण हम सब लोग कर रहे हैं अगर उनका संरक्षण मजबूती से करेंगे तो आने वाली पीढ़ी के लिए यह वृक्ष एक प्रेरणा के रूप में कार्य करेंगे और वह भी उनका संरक्षण कर अधिक से अधिक वृक्षारोपण पर कार्य करेंगे, उन्होंने कहा वृक्षारोपण आसान कार्य है लेकिन उनका संरक्षण इस प्रकार है जिस तरह से छोटे बच्चे का पालन पोषण की तरह होता है

इसलिए इनको भी हमें अपनी बच्चों की तरह पलवित पोषित करना चाहिए, तभी हम अपने भविष्य को बचाने में कामयाबी हासिल कर सकते हैं। कार्यक्रम की अध्यक्षता ग्राम सभा पाटुली के प्रधान श्री सुरेश कुमार ने किया उन्होंने कहा इस 1 को मनरेगा के तहत बाउंड्री वॉल को पक्का करने की घोषणा की। कार्यक्रम में संस्था की ओर से गांव में हर संस्कारों के उपलक्ष में रोपे पौधों जो आज संरक्षित करने पर वृक्ष बनकर फल दे रहे हैं उन बच्चों उत्तम रावत, आरव रावत, अनुज रावत ,हिमानी रावत ,हरेंद्र रावत, दृष्टि रावत ,अवनी रावत, मोहित रावत को काफी एवं पेंसिल देकर पुरस्कृत किए गए।

कार्यक्रम में संस्था के अध्यक्ष श्री मनोज रौथाण कोषाध्यक्ष नथीराम नौडियाल समलौण आंदोलन की संयोजिका श्रीमती बबीता देवी गांव की समलौण सेना नायिका कुमारी मीनाक्षी रावत कोषाध्यक्ष कुमारी मालती रावत सदस्य कुमारी रचना, आरती,वर्षा, करिश्मा, साक्षी, अंजलि, हिमानी, प्रिया,तनु, सोनाली ,रीना, कंचन,, ग्राम पैठाणी की समलौण सेना नायिका श्रीमती सुनीता देवी भंडारी कोषाध्यक्ष श्रीमती बिमला देवी, ग्राम कनाकोट से सेना नायिका श्रीमती कान्ति देवी नौडियाल, ग्राम ख॑डगाव से सेना नायिका श्रीमती गो॑दावरी देवी नेगी कोषाध्यक्ष श्रीमती देवेश्वरी देवी नेगी ग्राम बहेड़ी से सेना नायिका श्रीमती सीमा देवी गोदियाल एवं ग्रामीण श्रीमती बनसा देवी,सुरमा देवी, पवित्रा देवी, राजमती देवी, रीना देवी, बीना देवी,पुरबा देवी, पार्वती देवी, बिनीता देवी, लक्ष्मी देवी,भूरी देवी, सुनीता देवी, संगीता देवी, बीरा देवी, सम्पत्ति देवी, सरस्वती देवी,बिन्दी देवी, सविता देवी, भजनसिंह रावत, मदन सिंह रावत, चंदनसिंह रावत, चंदनसिंह रावत,भुवनेशसिह॑ रावत,बीरसिह॑ रावत, बालसिंह रावत आदि समस्त ग्रामवासी उपस्थित थे।

LEAVE A RESPONSE

Your email address will not be published. Required fields are marked *