उत्‍तराखण्‍ड न्यूज़ पौड़ी गढ़वाल

सांसद तीरथ सिंह रावत ने 6495 लाख रुपये की लागत से पांच सड़कों का अपग्रेडेशन कार्य का किया शुभारम्भ

पौड़ी। विकसित भारत संकल्प यात्रा के अन्तर्गत आज सांसद गढ़वाल तीरथसिंह रावत द्वारा आज बौंसाल में प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के अन्तर्गत कल्जीखाल विकासखण्ड की लगभग 6495 लाख रुपये की लागत से पांच सड़कों का अपग्रेडेशन कार्य का शुभारम्भ किया।

प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के अन्तर्गत बौंसाल कल्जीखाल 34 किमीका अपग्रेडेशन 2636 लाख, पीपलाबैण्ड मलाऊ मोटर मार्ग 18 किमी1493लाख, कल्जीखाल नलाई14 किमी 1109 लाख ,बनेख थनुल मोटरमार्ग 12 किमी889 लाख और पैडुलपुल से जाखखाली 5 किमी मोटरमार्ग का अपग्रेडेशन 368 लाख की लागत से की जाएगी। विकसित भारत संकल्प यात्रा के तहत सांसद गढ़वाल तीरथसिंह रावत और विधानसभा पौड़ी के विधायक राजकुमार पोरी ने संयुक्त रूप शिलान्यास कर संकल्प यात्रा में प्रतिभाग किया।

प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के अपग्रेडेशन का शुभारंभ करते हुए सांसद रावत ने कहा कि उत्तराखंड में यह सबसे लम्बी सड़क है जो प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना में सम्मिलित की गई है। इस विकासखण्ड में एक साथ पांच सड़के प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना में शामिल की गई हैं जो इस क्षेत्र के लिए बड़ी उपलब्धि है।
बौंसाल कल्जीखाल पौड़ी मोटरमार्ग इस जनपद की लाइफ लाईन है। कोटद्वार पाटीसैण पौड़ी मोटरमार्ग में व्यवधान होने पर यह मोटरमार्ग वैकल्पिक मोटरमार्ग भी है। इन मार्गों का उच्चीकरण होने से विकासखण्ड के 86 से भी अधिक गांवों के लोगों को सुविधा मिलेगी।

Pradhan mantri gram sadak yojna

LEAVE A RESPONSE

Your email address will not be published. Required fields are marked *

उत्‍तराखण्‍ड

भूस्खलन से आवासीय भवन को खतरा, प्रशासन से लगाई गुहार पौड़ी। लोनिवि के अफसरों की लापरवाही और जिद के चलते एक आवासीय भवन खतरे की जद में आ गया है। बारिश से सड़क के ऊपर वाले हिस्से से भूस्खलन होने के बाद भवन में दरारें पड़ गई हैं। वहीं भवन स्वामी ने जिला प्रशासन से मदद की गुहार लगाई है। कहा कि मोटर मार्ग कटिंग के दौरान ही उन्होंने यहां पर पुश्ता लगाने की मांग उठाई थी। लेकिन विभाग ने इसे गंभीरता से नहीं लिया। पाबौ ब्लाक के अंतर्गत बालीकंडारस्यूं के पोखरी गांव निवासी कादंबरी देवी पत्नी स्व. मायाराम भट्ट ने जिला प्रशासन से उनके पैतृक घर को बचाने की गुहार लगाई है। उन्होंने कहा कि ढुमका- पोखरी मोटर मार्ग पर उनका आवासीय भवन है। बारिश के चलते भवन के आंगन का सारा हिस्सा टूट गया है। जिससे भवन भी खतरे की जद में आ गया है। कहा कि कई बार लोनिवि को सूचित करने के बाद भी उनकी समस्या को गंभीरता से नहीं लिया गया। जिसके चलते अब भवन ध्वस्त होने की कगार पर पहुंच गया है। उन्होंने कहा कि उनके पास एक मात्र ही रहने का ठिकाना है। यदि यह भवन भी भूस्खलन की चपेट में आ गया तो वे कहां जाएंगे। उन्होंने जिला प्रशासन से मदद की गुहार लगाई है।