उत्‍तराखण्‍ड कोटद्वार न्यूज़ पौड़ी गढ़वाल

ऑपरेशन इस्माइल आभियान के तहत रेस्क्यू किये गए दो बालकों में से एक को किया परिवार के हवाले

संदीप बिष्ट
हरिद्वार। पुलिस महानिदेशक उत्तराखण्ड अशोक कुमार की पहल पर प्रदेश भर में चलाए जा रहे ऑपरेशन इस्माइल आभियान के तहत वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक हरिद्वार अजय सिंह के निर्देशन व क्षेत्राधिकारी नोडल अधिकारी जूही मनराल के पर्यवेक्षण एवं प्रभारी निरीक्षक राकेंद्र सिंह कठैत के प्रभार में जनपद हरिद्वार की एंटी ह्यूमन ट्रैफिकिंग यूनिट द्वारा इस्माइल आभियान के तहत भौतिक सत्यापन के दौरान गुमशुदा बालक- बालिका /महिला -पुरुष चौकी हर की पौड़ी क्षेत्र से दो बालकों का रेस्क्यू किया गया था । मौके पर पूछताछ के दौरान दो बालकों द्वारा अपना नाम मुकेश पुत्र स्वर्गीय प्रदीप तथा माता का नाम जानकी उम्र 14 वर्ष नई दिल्ली निवासी एवं दूसरे बालक द्वारा अपना नाम सोनू पुत्र धर्मपाल माता शांति देवी उम्र 15 वर्ष नगीना बिजनौर बताया था । जोकि घर से बिना बताए रेल के माध्यम से हरिद्वार पहुंचकर छोटे-मोटे काम तथा भिक्षा मांगकर अपना जीवन यापन कर रहे थे। दोनों को तत्काल रेस्क्यू कर चिकित्सा परीक्षण उपरांत बाल कल्याण समिति हरिद्वार के समक्ष प्रस्तुत किया गया। जहां काउंसलिंग के बाद दोनों बालकों को खुला आश्रय गृह ज्वालापुर में संरक्षण दिलवाया गया था । प्रभारी निरीक्षक राकेन्द्र सिंह कठेत के निर्देशानुसार तत्काल गठित टीम द्वारा कठिन परिश्रम फलस्वरूप टीम द्वारा सोनू पुत्र धर्मपाल के परिजनों की तलाश की गई। परिजनों ने बताया की सोनू लगभग 4 माह पूर्व घर से बिना बताए कहीं चला गया था जिसकी हमने बहुत तलाश की लेकिन चारो तरफ से हताशा ही मिली। कहा की जैसे ही एंटी ह्यूमन ट्रैफिकिंग यूनिट हरिद्वार द्वारा सूचना मिली तब जान मे जान आई । एंटी ह्यूमन ट्रैफिकिंग यूनिट हरिद्वार द्वारा सीडब्ल्यूसी एवं आवश्यक कार्यवाही के बाद माता पिता को सुपुर्द कर दिया गया । बालक के परिजनों ने उत्तराखंड पुलिस की ऑपरेशन इस्माइल टीम हरिद्वार का धन्यवाद किया। ऑपरेशन इस्माइल टीम के सदस्यों उपनिरीक्षक जयवीर रावत, उप निरीक्षक किरण गुसाईं, कांस्टेबल मुकेश कुमार , कांस्टेबल चाo दीपक चंद ने बालक को परिवार को सौंपने में महत्वपूर्ण योगदान दिया।

LEAVE A RESPONSE

Your email address will not be published. Required fields are marked *