नई दिल्ली

अविश्वास प्रस्ताव : राहुल गांधी के फ्लाइंग किस पर भडक़ीं स्मृति ईरानी, 22 महिला सांसदों ने स्पीकर से की शिकायत

नई दिल्ली । लोकसभा में बुधवार को अविश्वास प्रस्ताव पर कांग्रेस की तरफ से बोलते हुए राहुल गांधी ने मोदी सरकार पर जमकर निशाना साधा। राहुल गांधी ने मणिपुर के हालात का जिक्र करते हुए यह आरोप लगाया कि अहंकार में डूबी मोदी सरकार ने मणिपुर को तोड़ दिया है, दो भागों में बांट दिया है। उन्होंने कहा कि मणिपुर में सरकार ने हिंदुस्तान का कत्ल कर दिया है, भारत माता की हत्या कर दी है। राहुल ने सत्ता पक्ष की तरफ इशारा करते हुए यहां तक कहा कि, आप देशभक्त, देशप्रेमी नहीं हैं बल्कि देशद्रोही हैं।

राहुल गांधी का भाषण समाप्त होने के बाद सरकार की तरफ से केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी बोलने के लिए खड़ी हुईं। स्मृति ईरानी के बोलना शुरू करने के थोड़ी ही देर बाद राहुल गांधी जब सदन से जाने लगे तो सत्ता पक्ष की तरफ से ‘बैठ कर सुनिए’ की आवाजें आने लगी, तब राहुल गांधी ने पीछे मुड़ कर ‘फ्लाइंग किस’ किया।

स्मृति ईरानी ने कई बार राहुल के सदन से जाने का जिक्र करते हुए उन पर हमला बोला। कश्मीरी पंडितों, सिख दंगों, जमीन पर कब्जे और अडानी के साथ कांग्रेस के संबंधों को लेकर गांधी परिवार पर निशाना साधा।

अपने भाषण के बीच में ही स्मृति ईरानी ने राहुल गांधी द्वारा किए गए फ्लाइंग किस की तीखी आलोचना करते हुए लोक सभा में कहा कि उनसे पहले सदन में जिस नेता (राहुल गांधी) को बोलने का मौका मिला था उन्होंने जाते-जाते फ्लाइंग किस कर अपनी हरकत को दिखा दिया।
स्मृति ईरानी ने आगे कहा कि ऐसा गरिमाविहीन आचरण इस देश की सदन में कभी नहीं देखा गया। यह इस खानदान का लक्षण है जो सदन के जरिये देश को पता लग गया। केंद्रीय मंत्री ने हमला जारी रखते हुए कहा कि जाते-जाते एक नेता (राहुल गांधी) ने अभद्र हरकत कर बता दिया है कि महिलाओं को लेकर इनकी सोच क्या है ?

बीजेपी की 22 महिला सांसदों ने स्पीकर ओम बिड़ला को पत्र लिखकर शिकायत दर्ज कराई है। महिला सांसदों ने सीसीटीवी फुटेज निकलकर जांच करने और उनके खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की है। बताया जा रहा है कि कांग्रेस सांसद इस नई मुसीबत में फंस सकते हैं। स्मृति ईरानी ने कहा कि उन्होंने महिलाओं के खिलाफ इस तरह के आचरण की बात सुनी थी लेकिन ऐसा आचरण कभी देखा नहीं था।

LEAVE A RESPONSE

Your email address will not be published. Required fields are marked *