goa
गोवा

क्राइम न्यूज़ क्या हत्या के इरादे से ही गोवा आई थी सूचनाघ् तीन की बजाय 30000 किराया चुकायाय इन बातों से उठ रहे सवाल

क्राइम न्यूज़

गोवा में स्टार्टअप कंपनी की सीईओ द्वारा अपने बच्चे की हत्या करने के मामले में मिले सबूतों और पोस्टमार्टम रिपोर्ट से तमाम सवाल खड़े हो रहे हैं। इन सबको देखकर यह भी लग रहा है कि सूचना हत्या की फुलप्रूफ प्लानिंग बनाकर गोवा आई थी।

स्टार्टअप कंपनी माइंडफुल एआई की सीईओ सूचना सेठ पर अपने चार साल के बेटे की हत्या का आरोप लगा है। फिलहाल वह पुलिस की हिरासत में हैं। इस बीचए सामने आया है कि सूचना सेठ ने गोवा से बेंगलुरू जाने के लिए कैब के लिए 30ए000 रूपये का भुगतान किया था। यह खुलासा उस सर्विस अपार्टमेंट के मैनेजर द्वारा दर्ज कराई गई पुलिस शिकायत में हुआ हैए जहां आरोपी महिला ठहरी थी। इन सब तथ्यों को देखने से यह पता लगता है कि हत्यारी मां ने अपने बेटे की हत्या के लिए पहले से ही योजना बना रखी थी और वह पूरी तैयारियों से गोवा आई थी।

कैब के लिए भुगतान किए 30ए000 रुपये

सोल बनियान ग्रांडे सर्विस्ड अपार्टमेंट के मैनेजर गगन गंभीर ने अपनी शिकायत में कहा है कि सूचना सेठ ने यह बात छिपाने के लिए कि वह अपने बेटे का शव बैग में भरकर ले जा रही हैए कैब से जाने का निर्णय लिया था और संभवतरू वह पहले से ही ये योजना बनाकर आई थी। इसीलिए सूचना गोवा से बेंगलुरू जाने के लिए कैब के लिए 30ए000 रुपये देने को तैयार हो गई थी।

गोवा से बेंगलुरू का फ्लाइट का किराया आखिरी क्षणों में भी होता है 3000

क्राइम न्यूज़

पुलिस के पास दर्ज कराई गई शिकायत में यह भी बताया गया है कि जब सूचना चेकआउट कर रही थी तब उसने अपने लिए कैब बुक करने को कहा था। इस पर सर्विस अपार्टमेंट के स्टॉफ ने उससे फ्लाइट लेने का विकल्प भी दिया था। विभिन्न फ्लाइट बुकिंग वेबसाइट्स को देखें तो यह पता चलता है कि गोवा से बेंगलुरु के लिए अखिरी समय में भी अगर टिकट कराया जाए तो प्रति यात्री 2ए600 और 3ए000 रुपये के बीच में टिकट मिल जाते हैं। बावजूद इसके वह ज्यादा रुपये खर्च कर कैब से जाने की जिद पर अड़ी रही। बाद में उसके अनुरोध पर एक इनोवा क्रिस्टा को बुक किया गया था।

10 जनवरी तक बुक किया था कमरा लेकिन पहले ही छोड़ दिया

सर्विस अपार्टमेंट के मैनेजर ने यह भी कहा कि सूचना सेठ ने 6 जनवरी से 10 जनवरी तक कमरा बुक किया था। इसके लिए उसने पहले ही भुगतान कर दिया थाए लेकिन 8 जनवरी को सुबह 1230 बजे ही उसने चेक आउट कर लिया।

 

स्टाफ से मंगाई थी कफ सिरप

क्राइम न्यूज़

मैनेजर गंभीर ने यह भी कहा कि सूचना सेठ ने सात जनवरी को शाम 4 बजे के आसपास रिसेप्शन पर फोन करके एक विशेष ब्रांड के कफ सिरप की दो बोतलें मांगी थी। जो स्टॉफ ने उन्हें दी। स्टाफ ने बताया कि सूचना ने कहा था कि बेटे को बहुत खांसी हो रही है। इसके पांच घंटे बाद रात 9ण्10 बजे के आसपास सेठ ने स्टाफ को बताया कि उसे बेंगलुरु में कुछ जरूरी काम है। इसके लिए उसने कैब बुक करने को कहा। अब पुलिस इस एंगल से भी जांच कर रही है कि क्या सेठ ने अपने बेटे को कफ सिरप के जरिए नशीला पदार्थ दिया और फिर तकिये से उसका मुंह दबा दिया।

 

यह भी पढ़ें:उत्तरकाशी की बेटी सविता को मरणोपरांत तेनजिंग नोर्गे अवॉर्ड

दम घुटने से हुई मौत. पोस्टमार्टम रिपोर्ट में खुलासा

बता दें कि मृतक बच्चे का पोस्टमार्टम कर्नाटक हिरियुर जिला अस्पताल में किया गया। अस्पताल के प्रशासनिक अधिकारी डॉण् कुमार नाइक ने बताया कि पोस्टमार्टम के वक्त रिगॉर मोर्टिस ;मरने के बाद मांसपेशियों की जकड़नद्ध खत्म हो चुकी थी। सामने आया है कि तकिया या किसी दूसरे भारी कपड़े की मदद से गला घोंटकर बच्चे की हत्या की गई थी।

 

खून के धब्बों को लेकर सूचना का दावा

क्राइम न्यूज़

मामले में जानकारी के बाद कुछ पुलिस अधिकारियों ने सोल बनयान ग्रांडे का दौरा किया था। जहां कमरा 404 के निरीक्षण के दौरान लिविंग रूमए बेडरूम और बाथरूम में खून के धब्बे मिले। जब सूचना से इस बारे में पूछा गया तो उसने बताया कि उस समय उसे मासिक धर्म की अवधि से गुजर रही थी और वह उसी के खून के धब्बे थे। बता दें कि सूचना सेठ ने हत्या को अंजाम देकर आत्महत्या की भी कोशिश की थी। पुलिस ने कहा कि सर्विस अपार्टमेंट में एक तौलिये पर खून के धब्बे पाए गए। यह धब्बे तब पड़े जब वह हत्या के बाद आत्महत्या का प्रयास कर रही थी।

goa

LEAVE A RESPONSE

Your email address will not be published. Required fields are marked *