उत्‍तराखण्‍ड

फॉरगिवनेस फाउंडेशन ने की नये आपराधिक कानून,साइबर सुरक्षा और मानसिक स्वास्थ्य जागरूकता पर कार्यशाला आयोजित

संदीप बिष्ट
देहरादून। मानसिक स्वास्थ्य को लेकर कार्यरत सामाजिक संस्था फॉरगिवनेस फाउंडेशन सोसाइटी ने देहरादून मण्डुवाला स्थित कर्मा वेलफेयर सोसाइटी के प्रांगण में नये आपराधिक कानून,साइबर सुरक्षा और मानसिक स्वास्थ्य जागरूकता को लेकर कार्यशाला का आयोजन किया। उत्तराखंड साइबर पुलिस एवं कर्मा वेल्फेयर सोसाइटी के सहयोग से आयोजित कार्यशाला में प्रख्यात समाजसेवी और मनोवैज्ञानिक डॉ.पवन शर्मा (द साइकेडेलिक) ने मानसिक स्वास्थ्य को बेहतर बनाये रखने के तरीके और तकनीक की जानकारी दी। साथ ही मानसिक स्वास्थ्य पर साइबर क्राइम के द्वारा पड़ने वाले नकारात्मक प्रभाव से बचाव करने एवं उबरने के रोचक और ज्ञानवर्धक तकनीक साझा की।

डॉ.पवन शर्मा ने जानकारी की मनुष्य का मस्तिष्क कल्पना और हकीकत में कोई भी अन्तर नहीं करता है इसलिए वर्चुअल संसार में घटित होने वाली घटनायें वास्तविक जीवन में घटने वाली घटनाओं जैसी भावनायें और मनोदशा बनाती हैं। वहीँ देहरादून साइबर क्राइम पुलिस टीम से एस.आई राजेश ध्यानी ने नये आपराधिक कानूनों और साइबर सुरक्षा के कई प्रभावी तरीके बताते हुए साइबर क्राइम से बचने के लिए सावधानी बरतने की अपील की। कार्यशाला के अंत में डॉ.पवन शर्मा और रवि सिंह ने प्रतिभागियों की जिज्ञासाओं का समाधान किया। डॉ.पवन शर्मा ने जानकारी दी की फोरगिवनेस फाउंडेशन सोसाइटी सामाजिक हितों एवं मानसिक स्वास्थ्य के प्रति जागरूकता के मुद्दों पर जागरुकता कार्यक्रमों का आयोजन करती रहती है और नि:शुल्क परामर्श व थेरेपी की सुविधा भी प्रदान करती है। इस अवसर पर कार्तिक नेगी,विकास राना,अनुराग और चाहत गुप्ता आदि मौजूद रहे।

LEAVE A RESPONSE

Your email address will not be published. Required fields are marked *