dehradun
उत्‍तराखण्‍ड देहरादून न्यूज़

कक्षा नौ में प्रवेश लेने वाली सभी छात्राओं को मुफ्त साइकिल योजना का लाभ दिया जायेगा

देहरादून,    रोहन कुमार

 

उत्तराखण्ड

 

विद्यालयी शिक्षा विभाग के अंतर्गत शासकीय एवं अशासकीय विद्यालयों में अध्ययनरत कक्षा नौ की करीब 50 हजार छात्राओं को मुफ्त साइकिल दी जायेगी। जिसके लिये शिक्षा निदेशालय ने ‘बालिका शिक्षा प्रोत्साहन योजना’ के तहत सभी 13 जिलों को 14 करोड से अधिक़ की धनराशि जारी कर दी है। इस योजना के तहत प्रत्येक छात्रा के खाते में डीबीटी के माध्यम से साइकिल क्रय हेतु रूपये 2850 दिये जायेंगे

 

बालिका शिक्षा को बढ़ावा देने के दृष्टिगत राज्य सरकार ने बालिका शिक्षा प्रोत्साहन योजना शुरू की है, जिसके तहत प्रदेशभर के शासकीय एवं अशासकीय विद्यालयों में कक्षा नौ में प्रवेश लेने वाली सभी छात्राओं को मुफ्त साइकिल योजना का लाभ दिया जा रहा है। जिसके अंतर्गत प्रत्येक छात्रा के खाते में साइकिल क्रय हेतु रूपये 2850 की धनराशि संबंधित जनपद के मुख्य शिक्षा अधिकारी कार्यालय से डीबीटी के माध्यम से जमा कराई जायेगी।

 

बालिका शिक्षा प्रोत्साहन योजना के तहत अल्मोड़ा में 3492 बालिकाओं के लिए एक करोड़, बागेश्वर में 1595 के लिए 45 लाख, चमोली में 2533 के लिए 72 लाख, चंपावत में 1677 के लिए 47 लाख, देहरादून में 5615 के लिए एक करोड़ 60 लाख, पौड़ी 3284 के लिए 94 लाख, हरिद्वार में 7075 बालिकाओं के लिए दो करोड़, नैनीताल में 5021 के लिए एक करोड़ 43 लाख, पिथौरागढ़ में 2635 के लिए 75 लाख, रुद्रप्रयाग में 1736 बालिकाओं के लिए 50 लाख, टिहरी में 3780 बालिकाओं के लिए एक करोड़ आठ लाख, उत्तरकाशी में 2258 बालिकाओं के लिए 64 लाख एवं ऊधमसिंह नगर में 8429 छात्राओं के लिए दो करोड़ 40 लाख की धनराशि दी गई है।

 

ये भी पढ़ें:हरिद्वार पिरान कलियर संदिग्द परिस्थितियों में आग लगने से 20 बकरियों की जलकर दर्दनाक मौत

योजना के सफल क्रियान्वयन के लिए संबंधित जनपद के मुख्य शिक्षा अधिकारी, जिला शिक्षा अधिकारी माध्यमिक, वित्त अधिकारी एवं जनपद के वरिष्ठतम प्रधानाचार्य की चार सदस्यीय समिति गठित की गई है, जो ब्लॉक स्तर पर 20 प्रतिशत लाभार्थियों का भौतिक सत्यापन करेगी, इसके अलावा समिति को मैदानी जनपदों में साइकिल क्रय व पर्वतीय जनपदों में एफडी का भौतिक सत्यापन कर निर्धारित प्रारूप पर रिपोर्ट निदेशालय को भेजनी होगी।

dehradun

LEAVE A RESPONSE

Your email address will not be published. Required fields are marked *