उत्‍तराखण्‍ड

रुद्रप्रयाग हादसे में 12 हुई मृतकों की संख्या, 14 यात्री घायल, पीएम मोदी ने मुख्यमंत्री से ली हादसे की जानकारी

रुद्रप्रयाग हादसे में 12 हुई मृतकों की संख्या,14 यात्री घायल, पीएम मोदी ने मुख्यमंत्री से ली हादसे की जानकारी
रुद्रप्रयाग में शनिवार सुबह हुए हादसे में अभी तक 12 यात्री अपनी जान गंवा चुके हैं। जबकि 14 यात्री घायल हैं। जिनमें से सात यात्रियों की हालत गंभीर बताई जा रही है। गंभीर घायलों को गुलाबराय मैदान से एयरलिफ्ट कर हायर सेंटर एम्स ऋषिकेश भिजवाया गया है। हादसे पर पीएम मोदी ने भी दुख जताया है।

शनिवार को बद्रीनाथ हाईवे पर रैतौली क्षेत्र के पास एक टेंपो ट्रैवलर अनियंत्रित होकर अलकनंदा नदी में जा गिरा। हादसे के दौरान वाहन में चालक समेत 26 यात्री सवार थे। घटना की सूचना मिलते ही रेस्क्यू टीम मौके पर पहुंची और रेस्क्यू अभियान शुरू किया। बताया जा रहा है सभी यात्री दिल्ली से चोपता-तुंगनाथ-चंद्रशिला ट्रिप पर घूमने आए थे।

घायलों को पहुंचाया अस्पताल
बताया जा रहा है अचानक चालक को नींद की झपकी आ गई। जिसके चलते रैतौली के पास वाहन बेकाबू होकर मुख्य मार्ग से लगभग 500 मीटर नीचे अलकनंदा नदी में समा गया। हादसे के दौरान यात्रियों में चीख-पुकार मच गई। सूचना पर रेस्क्यू टीम तत्काल मौके पर पहुंची। रेस्क्यू टीम ने 14 घायलों को रेस्क्यू कर एम्बुलेंस से जिला अस्पताल पहुंचाया।

हादसे में 12 यात्रियों की मौत
हादसे में सात घायलों को हायर सेंटर एम्स ऋषिकेश एयरलिफ्ट किया गया। पुलिस की ओर से मिली जानकारी के अनुसार हादसे में 10 लोगों की मौके पर ही मौत हो चुकी थी। जिनके शवों को मुख्य मार्ग तक पहुंचाया गया। जबकि दो लोगों की उपचार के दौरान अस्पताल में मौत हो गई।

झाड़ियों में घायल मिली महिला
एसडीआरएफ से मिली जानकारी के अनुसार रेस्क्यू के दौरान एक महिला गाड़ी से छिटककर 80 मीटर नीचे झाड़ियों में अटकी हुई थी। SDRF टीम द्वारा महिला का कड़ी मशक्कत के बाद रेस्क्यू कर रोड़ हेड तक लेकर आए और एम्बुलेंस की मदद से अस्पताल भिजवाया गया।

पीएम मोदी ने मुख्यमंत्री से ली हादसे की जानकारी
रुद्रप्रयाग में हुए सड़क हादसे पर प्रधानमंत्री मोदी ने दुख जताया है। पीएम मोदी ने मुख्यमंत्री धामी से हादसे की जानकारी ली है। इसके साथ ही पीएम मोदी ने पीएम राहत कोष से हादसे में मृतक लोगों को 2 – 2 लाख रुपए और घायलों को 50 – 50 हजार रुपए देने का ऐलान किया है

LEAVE A RESPONSE

Your email address will not be published. Required fields are marked *