उत्‍तराखण्‍ड पौड़ी गढ़वाल

शहीद विपिन रावत के पैतृक गाँव में हुआ भगवान पशुपतिनाथ मन्दिर का भूमि पूजन

◆ शहीद विपिन रावत की प्रतिमा भी होगी स्थापित

कोटद्वार। देश के प्रथम सीडीएस रहे शहीद बिपिन रावत के पैतृक गाँव सैणा में आज पशुपतिनाथ मंदिर निर्माण व सीडीएस रावत की प्रतिमा की स्थापना के लिए भूमि पूजन कार्यक्रम सम्पन्न हुआ। इस मौके पर शहीद बिपिन रावत को श्रद्धांजलि भी अर्पित की गई।
विकासखण्ड द्वारीखाल के अंतर्गत ग्राम सैणा में आयोजित भूमि पूजन कार्यक्रम में उपस्थित सांसद व पूर्व मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने शहीद बिपिन रावत को श्रद्धांजलि आर्पित करते हुए उन्हे देश का सबसे महान व्यक्ति बताया। उन्होंने कहा कि सेना में उनके सराहनीय योगदान के चलते उन्हें तीनों सेनाओं का दायित्व सौंपा गया था।


परमार्थ निकेतन ऋषिकेश के अध्यक्ष पूज्य स्वामी चिदानंन्द सरस्वती ने इस मौके पर भगवान पशुपतिनाथ मन्दिर निर्माण के लिए एक लाख इक्यावन हजार रुपये व सैनिक स्कूल निर्माण के लिए भी एक लाख इक्यावन हजार रुपये की धनराशि का चेक भेंट किया।
सेवा फांउन्डेशन के सदस्य देवी प्रसाद बलूनी ने पांच लाख एक हजार रूपए पशुपति नाथ मन्दिर निर्माण हेतु प्रदान किए।
कार्यक्रम में ब्लॉक प्रमुख द्वारीखाल महेन्द्र सिंह राणा ने कहा कि हमें शहीद बिपिन रावत के जीवन दर्शन से प्रेरणा लेनी चाहिए। हमारे उत्तराखंड राज्य को लेकर उनकी बहुत सारी कल्पना थी। उनकी दूर दृष्टि व आदर्श हमें सदैव प्रेरणा देते रहेंगे। विकास खंड मुख्यालय द्वारीखाल में उनकी यादगार में नवनिर्मित सभागार का नाम शहीद विपिन रावत के नाम पर रखा है।

भूमि पूजन कार्यक्रम के अवसर पर महाराष्ट्र के पूर्व विधायक बाब्रवान खदाड़े रेड्डी, ब्लाक प्रमुख द्वारीखाल महेंद्र सिंह राणा, हरीश रावत संस्थापक सेवा फांउन्डेशन, निवति यादव संस्थापक डा. हरिवंश राय बच्चन संस्थान, डा. भागवत कराड़, विश्वपाल जयन्त, सेवानिवृत्त कर्नल विजय सिंह रावत, भारत सिंह रावत, सुरेन्द्र सिंह रावत, हरिनंदन सिंह रावत, मानसी देवी ग्राम प्रधान बिरमोली, राजेश बिष्ट ग्राम प्रधान जवाड, नीरज कण्डवाल ग्राम प्रधान कण्डा, गणेश कण्डवाल ग्राम प्रधान बनाली, उद्योगपति रजनीश रावत, खण्ड विकास अधिकारी हरेन्द्र सिंह कोहली, सहायक खण्ड विकास अधिकारी विद्यादत्त रतूड़ी व महिला मंगल दलों समेत भारी संख्या में ग्रामीण उपस्थित रहे।

LEAVE A RESPONSE

Your email address will not be published. Required fields are marked *